आप भी जानें रोजाना टंग क्लीन ना करने से क्या होता है

0
111
tangue

नई दिल्ली : अक्सर हम छोटे बच्चों से कहते हैं कि दांतों को हेल्दी और शाइनी रखना है तो आपको दिन में दो बार ब्रश करना चाहिए। सभी लोग जानते हैं कि ब्रश ना करने से दांतों में कैविटिज हो जाती हैं। और ये बैड डेंटल हेल्थ रूटीन है लेकिन जहां हम अपने दातों की इतनी देखभाल करते है और उन्हें इतना साफ़ रखते हैं वहीं क्या आप अपनी टंग यानि जीभ को साफ़ करते है और अगर हम रोजाना टंग को साफ़ नहीं करते तो रोजाना टंग क्लीनर ना करने से क्या होता है?

हाइजिंन मेंटन :

टंग क्लीनिंग भी ब्रश की तरह ही हाइजिंन मेंटन करने का जरिया है। ये डेड स्किन सेल्स को खत्म करता है। इसके साथ ही ये बैक्टीरिया, टॉक्सिंस, फंगस और जमे हुए फूड को जीभ के आसपास से बाहर निकालता है। मुंह से आने वाली बदबू का जिम्मेदार कुछ हद तक ये बैक्टीरिया भी होते हैं जो टंग के आसपास जमे रहते हैं।

डेंटल हेल्थ :

जीभ को साफ करने से कई प्रकार के हेल्थ इश्यू भी दूर होते हैं। जैसे इम्यून सिस्टम बूस्ट होता है। डायजेशन में हेल्प मिलती है। डेंटल हेल्थ ठीक रहती है। अगर आप रोजाना टंग क्लीन नहीं करते तो आपको कई तरह की हेल्थ कंडीशंस से गुजरना पड़ सकता है।

मुंह से स्मैल :

अगर आप रोजाना जीभ साफ नहीं करते तो मुंह‍ से बदबू आने लगती है। दरअसल बात यह है कि टंग रोजाना क्लीन ना करने से बैक्टीरिया जीभ पर जमने लगते हैं और कुछ समय बाद मुंह से स्मैल आने लगती है।

गम डिजीज़ :

कई बार जब आप ब्रश करते हैं तो मुंह से ब्लड आने लगता है। हम सोचते हैं कि गम रिलेटिड प्रॉब्लम्स की वजह से ऐसा हो रहा है। ये सच है कि ऐसा होता है लेकिन हर मामले में ऐसा नहीं होता। ये मसूड़ों में सूजन की वजह से भी हो सकता है जो एक टंग रिलेटिड प्रॉब्लम है। इससे गम्स रेड हो जाते हैं उनमें स्वैलिंग होने लगती है और ब्लड आने लगता है।

दांतों पर इफेक्ट :

जीभ साफ़ ना करने से गम्स वीक हो जाते हैं। ऐसे में बैक्टीरिया आसानी से गम्स पर अटैक करते हैं। दांतों पर इसका लंबे समय तक इफेक्ट रहता है। ऐसे में दांत गिरने का भी डर रहता है। अगर आप चाहते हैं कि ऐसा ना हो आपको रोजाना जीभ साफ करनी चाहिए। लंबे समय तक दांतों को डैमेज से बचाने के लिए रोजाना टंग क्लीजन करें।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here