निकाय चुनाव: नामांकन के आखिरी दिन प्रत्याशियों ने बहाया पसीना

0
320
nikay chunaw

कानपुर, निकाय चुनाव में कल नामांकन का आखिरी दिन था. प्रत्याशियों ने नामांकन कराने के लिए खूब पसीना बहाया. एक दिन पहले कांग्रेस, सपा और बसपा के प्रत्याशियों की टिकट होने के चलते ज्यादातर इन्हीं पार्टियों के प्रत्याशियों ने अपना पर्चा भरा. वहीं भाजपा से महापौर पद की प्रत्याशी प्रमिला पांडेय, कांग्रेस की बंदना मिश्रा व सपा से माया गुप्ता के अलावा महापौर पद के लिए अन्य निर्दलीय दावेदारों ने भी नामांकन कराया.

भारी जुलुस के साथ पहुंचे प्रत्याशी

कल नामांकन कराने के लिए आने वाला हर प्रत्याशी अपने साथ ज्यादा से ज्यादा समर्थकों को लेकर पहुंचा. पूरा मोतीझील परिसर प्रत्याशियों और उनके समर्थकों से भरा रहा. महापौर पद के प्रत्याशी भारी जुलूस लेकर पहुंचे. पार्षद के उम्मीदवारों ने नामांकन के आखिरी दिन अपना पूरा जोर लगा दिया. कुछ प्रत्याशी ऐसे भी थे, जिनके फॉर्म कंप्लीट न होने से नामांकन नहीं करा सके.

नामांकन के आखिरी दिन कई महिला प्रत्याशी ऐसी भी देखी गई, जो अपने बच्चों को लेकर आई थीं. वार्ड- 16, 83, 56 सहित ऐसे कई वार्ड थे, जहां महिला प्रत्याशियों के साथ उनके बच्चे भी थे.

नामांकन काउंटर में लगी रही भरी भीड़

5- 5 वार्ड के लिए एक रूम को अलॉट किया गया था, मंडे को हर रूम में नामांकन कराने आए प्रत्याशियों की भारी भीड़ रही. इससे नामांकन अधिकारी भी काफी परेशान दिखे. आखिरी दिन होने की वजह से प्रत्याशी इधर- उधर भाग कर नामांकन की प्रक्रिया को पूरा कर रहे थे. वहीं बिठूर नगर पंचायत के कई ऐसे भी प्रत्याशी भी थे, जिनका नामांकन दाखिल नहीं हो सका.

भाजपा ने दिखाया शक्ति प्रदर्शन

सत्ताधारी पार्टी भाजपा की महापौर प्रत्याशी प्रमिला पांडेय ने मंडे को नामांकन दाखिल किया. पहले से प्रस्तावित जुलूस को देखते हुए किए गए पर्याप्त इंतजाम फेल हो गए हैं. नामांकन कराने के लिए पहुंचे समर्थकों ने भी जमकर नारेबाजी की. उनके साथ नामांकन कराने कैबिनेट मंत्री सतीश महाना, सत्यदेव पचौरी, विधायक नीलिमा कटियार, महेश त्रिवेदी, नगर अध्यक्ष सुरेंद्र मैथानी, पूर्व महापौर जगतवीर सिंह द्रोण, रविंद्र पाटनी पहुंचे. भारी भीड़ से नामांकन कक्ष भी पूरा भर गया. जिसके बाद पुलिस को उन्हें निकालने में काफी मशक्कत करनी पड़ी.

आचार संहिता का हुआ खंडन

नामांकन के दौरान सत्ता दल के कई प्रत्याशियों ने आचार संहिता का खंडन किया. वहीं पुलिस और प्रशासन के अधिकारी हाथ पर हाथ धरे बैठे रहे. पीछे गेट से एक प्रत्याशी के साथ 20 से ज्यादा लोग साथ आ गए और नामांकन स्थल पर नारेबाजी करते हुए नामांकन कराने पहुंच गए. महापौर नामांकन के लिए पहुंचे एक पार्टी के समर्थकों ने भी आचार संहिता की धज्जियां उड़ाकर रख दीं. इनमें कई बड़े चेहरे होने के कारण पुलिस प्रशासन मूक- दर्शक बना रहा.

 

निकाय चुनाव की प्रक्रिया

7 नवंबर को होगी नामांकन पत्रों की जांच

9 नवंबर को वापस ले सकते हैं नामांकन

10 नवंबर को होगा चुनाव चिन्ह आवंटन

20 नवंबर को थम जाएगा प्रचार का शोर

22 नवंबर को डाले जाएंगे शहर में वोट

01 दिसंबर को होगी वोटों की काउंटिंग

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here