MP Police Constable Exam 2021 : 8 जनवरी को आयोजित होने जा रही एमपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में ई- आधार कार्ड तभी मान्य होगा जब वह यूआईडीएआई के द्वारा सत्यापित हो जाएगा। अन्यथा उसे मान्य नहीं माना जाएगा और परीक्षा केंद्र में एंट्री नहीं दी जाएगी। ओरिजनल फोटोयुक्त पहचान पत्र में उम्मीदवार मतदाता पहचान पत्र, पेन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड ला सकते हैं। अभ्यर्थियों का आधार रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है। परीक्षा हॉल में प्रवेश बायोमेट्रिक पद्धाति की प्रक्रिया के बाद दिया जाएगा। गौरतलब है कि इस परीक्षा में करीब 11 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे।

 

एमपी पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा में 100 अंकों के 100 प्रश्न होंगे। सभी प्रश्न एमपी बोर्ड की 8वीं कक्षा के स्तर के होंगे। प्रश्न मल्टीपल च्वॉइस वाले होंगे। पेपर में नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी इसलिए अभ्यर्थियों के लिए यह अच्छा रहेगा कि वह कोई प्रश्न न छोड़ें।  सही प्रश्न के लिए एक अंक मिलेगा। एग्जाम के बाद आंसर-की भी जारी होगी। आपत्तियां मांगी जाएंगी और उन पर विचार करने के बाद अंतिम उत्तर कुंजी भी जारी होगी। कुल वैकेंसी के पांच गुना (जातिवार आरक्षण को ध्यान में रखकर) अभ्यर्थियों को शारीरिक दक्षता परीक्षा के लिए चुना जाएगा। आपको बता दें कि एमपीपीईबी ने 2020 में एमपी पुलिस में 4000 कांस्टेबल जीडी भर्ती प्रक्रिया शुरू की थी। कुल 4000 वैकेंसी में से 3862 पद जीडी कांस्टेबल और 138 पद रेडियो कांस्टेबल के हैं।

प्रश्न पत्र का पैटर्न
सामान्य ज्ञान व तार्किक ज्ञान – 40 अंक
बौद्धिक क्षमता व मानसिक अभिरुचि – 30 अंक
विज्ञान व सरल अंक गणित – 30 अंक

जिन अभ्यर्थियों ने रेडियो कांस्टेबल पद के लिए आवेदन किया था, उन्हें उपरोक्त प्रश्न पत्र के साथ-साथ द्वितीय प्रश्न पत्र के रूप में 100 अंकों का एक तकनीकी प्रश्न पत्र भी हल करना होगा।

लिखित परीक्षा कई शिफ्टों में हो रही है, इसलिए इसका रिजल्ट नॉर्मलाइजेशन पद्धति से निकाला जाएगा। मार्क्स को नॉर्मलाइज्ड किया जाएगा। दरअसल अलग अलग शिफ्टों के प्रश्न पत्र अलग अलग होंगे। प्रश्न पत्रों के कठिनाई के स्तर में समानता लाने के लिए व्यापक तौर पर मार्क्स नॉर्मलाइजेशन का फॉर्मूला अपनाया जाता है। परीक्षा में शामिल सभी अभ्यर्थियों के मार्क्स को एक फॉर्मूले के तहत नॉर्मलाइज किया जाता है।