ढाई साल बाद केजरीवाल ने संभाला जल संसाधन मंत्रालय का प्रभार

0
206
arvind-kejriwal

नई दिल्ली : ढाई साल बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने किसी मंत्रालय की जिम्मेदारी ली है। राजधानी में दोबारा सरकार चुने जाने के बाद केजरीवाल ने अपने अधीन कोई मंत्रालय नहीं चुना था। मगर अब केजरीवाल ने जल संसाधन मंत्रालय का जिम्मा लिया है। बता दें कि अब तक यह पद मंत्री राजेंद्र पाल गौतम के पास था।

इस फेरबदल को उपराज्यपाल से मंजूरी मिल गई है। आम आदमी पार्टी सूत्रों के अनुसार केजरीवाल के जनता दरबार में और बवाना उपचुनाव में प्रचार के दौरान सबसे ज्यादा शिकायतें पानी और सीवर की लाइन को लेकर की गयी थी।

दूसरी तरफ विपक्ष अरविंद केजरीवाल पर कोई पोर्टफोलियो ना लेने के कारण से जिम्मेदारियों से बचने का आरोप लग रहा था। दिल्ली के कई कॉलोनियों में पीने की पाइप लाइन नहीं है। चुनाव में बिजली के साथ पानी को केजरीवाल ने एक बड़ा मुद्दा बनाया था।

इसी मुद्दे को देखते हुए सरकार की उपलब्धियां संतोषजनक नहीं रही, जिसके बाद खुद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जल संसाधन मंत्रालय की जिम्मेदारी ली केजरीवाल सोमवार से दिल्ली जल बोर्ड के चेयरमैन भी होंगे।

बताते चले कि राजेंद्र पाल गौतम से पहले जल संसाधन मंत्रालय और दिल्ली जल बोर्ड की जिम्मेदारी आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा को सौंपी गयी थी। बता दें कि दिल्ली जल बोर्ड की जिम्मेदारी लेने के बाद केजरीवाल जल्द ही अपने मंत्रालय और जल बोर्ड के तमाम उच्चधिकारियों की बैठक बुलाकर अब तक के हुए कार्यों की समीक्षा करेंगे।