जनवरी के दूसरे हफ्ते में सूर्य और मंगल राशि बदलेंगे। साथ ही बुध की चाल वक्री हो जाएगी। इसके बाद महीने के आखिरी में शुक्र अपनी चाल बदलेगा। ये ग्रह मार्गी यानी सीधी चाल से चलने लगेगा। इन चाल ग्रहों के बदलाव का सबसे ज्यादा असर मौसम पर दिखेगा। साथ ही इनके कारण देश में बड़े राजनीतिक, आर्थिक और सामाजिक बदलाव भी दिखेंगे। ज्योतिषीयों के मुताबिक साल के पहले महीने में इन चार ग्रहों की चाल बदलना खास रहेगा।

पुरी के ज्योतिषाचार्य डॉ. गणेश मिश्र बताते हैं इस महीने सूर्य अपनी शत्रु राशि यानी मकर में अपने शत्रु ग्रह शनि के साथ युति बनाएगा। इसके बाद मंगल धनु राशि में शुक्र के साथ रहेगा। वहीं, मकर राशि में शनि और सूर्य के साथ बुध रहेगा जो कि वक्री चाल से चलेगा। सितारों की ये स्थिति कई लोगों के लिए ठीक नहीं रहेगी।

अचानक बदलेगा मौसम, प्राकृतिक आपदाओं की आंशका भी
डॉ. मिश्र के मुताबिक ग्रहों की चाल में बदलाव की ये स्थिति सरकार और प्रशासन के लिए परेशानी बढ़ा सकती है। सरकार या न्याय विभाग के कुछ फैसले ऐसे होंगे जिनसे देश में विवाद बढ़ सकता है। इस महीने के राशि परिवर्तन के कारण कई जगहों पर अचानक मौसम बदलेगा। जिसके कारण कुछ जगहों पर बर्फबारी हो सकती है। लोग परेशान रहेंगे। अनाज और खाने की चीजों की कीमतों में पहले गिरावट फिर तेजी आएगी। विस्फोटक सामग्री या बिजली शॉर्ट सर्किट से प्राकृतिक आपदा की आंशका है। देश में दुर्घटनाएं बढ़ने की भी आंशका है।

ग्रहों के राशि परिवर्तन का शुभ-अशुभ असर

सूर्य: ये ग्रह 14 जनवरी को धनु से मकर राशि में प्रवेश करेगा। सूर्य के इस राशि में आते ही खर मास खत्म हो जाएगा। जिससे मांगलिक काम फिर शुरू जाएंगे। सूर्य के राशि परिवर्तन करने से मेष, सिंह, वृश्चिक और मीन राशि वाले लोगों के लिए अच्छा समय शुरू होगा। इनके अलावा वृष, मिथुन, कर्क, कन्या, तुला, धनु, मकर और कुंभ राशि वाले लोगों को संभलकर रहना होगा।

मंगल: ये ग्रह 16 जनवरी को वृश्चिक राशि से निकलकर धनु में आ जाएगा। इस राशि परिवर्तन से मंगल और राहु-केतु का अशुभ योग खत्म होगा। लेकिन शुक्र-मंगल का अशुभ योग बन जाएगा। इस स्थिति शुभ प्रभाव सिर्फ कर्क, तुला और कुंभ राशि वालों पर ही रहेगा। वहीं, मेष, वृष, मिथुन, सिंह, कन्या, वृश्चिक, धनु, मकर और मीन राशि वाले लोगों को संभलकर रहना होगा।

बुध: ये ग्रह इस महीने मकर राशि में शनि के ही साथ रहेगा। लेकिन 14 जनवरी को इसकी चाल बदलकर वक्री हो जाएगी। बुध की चाल में बदलाव होने से मेष, मिथुन, सिंह, धनु और मीन राशि वाले लोगों पर इसका शुभ प्रभाव बढ़ेगा। इनके अलावा वृष, कर्क, कन्या, तुला, वृश्चिक, मकर और कुंभ राशि वाले लोगों को संभलकर रहना होगा।

शुक्र: ये ग्रह पूरे महीने धनु राशि में वक्री ही रहेगा। महीने के आखिरी दिन इसकी चाल मार्गी यानी सीधी हो जाएगी। मकर राशि में वक्री चाल का शुभ असर सिर्फ मेष, कर्क और सिंह राशि वाले लोगों को मिलेगा इनके अलावा अन्य राशि वालों को संभलकर रहना होगा।