कानपुर: निकाय चुनाव के लिए भाजपा ने तय किया उम्मीदवार, कमलावती सिंह या प्रमिला पाण्डेय के नाम पर लग सकती है मुहर

0
272
kamlawati singh

 

कानपुर, कानपुर निकाय चुनाव के लिए भाजपा ने मेयर सीट के उम्मीदवार के लिए रणनीति बना ली है. पार्टी ने अन्य दावेदारों को छोडक़र जातिगत समीकरण के आधार पर दो उम्मीदवार कमलावती सिंह और प्रमिला पाण्डेय के नाम पर मुहर लगा दी है. जिसमें कमलावती सिंह के नाम पर रजामंदी लगभग बन चुकी है. अब कानपुर की सीट पर सपा ने वैश्य, कांग्रेस ने ब्राह्मण और बसपा ने पिछड़ी जाति के उम्मीदवार पर दांव लगाया है, ऐसे में भाजपा ने ठाकुर उम्मीदवार को मैदान में उतारना उचित समझा.

भाजपा की कानपुर शहर इकाई ने अंतिम पैनल में पूर्व महिला मोर्चा शहर अध्यक्ष माया सिंह, तेज-तरार्र नेता प्रमिला पाण्डेय, पूनम कपूर के साथ-साथ पूर्व प्रदेश महिला मोर्चा अध्यक्ष कमलावती सिंह का नाम ही तय किया था. इसी सूची के आधार पर लखनऊ में स्क्रीनिंग कमेटी को अंतिम नाम तय करना था. निवर्तमान मेयर ने अपनी करीबी पूनम कपूर के लिए जोर लगा रखा था, जबकि कैबिनेट मंत्री सतीश महाना का रूख प्रमिला पाण्डेय के नाम पर था. कानपुर से निर्वाचित एक अन्य कैबिनेट मंत्री सत्यदेव पचौरी भी प्रमिला पाण्डेय के नाम पर रजामंद हैं. ऐसे में प्रमिला पाण्डेय अथवा पूनम कपूर का नाम रेस में सबसे आगे था. माया सिंह और कमलावती सिंह का नाम जातीय समीकरणों के चलते चर्चा में था. कांग्रेस ने मैदान में ब्राह्मण चेहरे को मैदान में उतार दिया है. इस स्थिति में भाजपा ने प्रमिला पाण्डेय और पूनम कपूर के नाम पर विचार को फिलहाल स्थगित कर दिया है. बीती देर रात तक कमलावती सिंह के नाम पर मुख्यालय में लगभग सहमति बन गई है.

प्रमिला पाण्डेय का नाम भी हो सकता है तय

प्रदेश स्क्रीनिंग कमेटी ने सपा से वैश्य, बसपा से पिछड़ी जाति और कांग्रेस से ब्राह्मण उम्मीदवार के सामने आने के बाद ठाकुर उम्मीदवार उतारने का मूड बनाया है. चूंकि कमलावती सिंह के अच्छे संबंध और पहचान राष्ट्रीय नेताओं से हैं, ऐसे में उनका नाम लगभग फाइनल है. अलबत्ता कानपुर में ब्राह्मण मतदाताओं की निर्णायक संख्या को देखते हुए पार्टी ने अभी प्रमिला पाण्डेय के नाम पर विचार करना बंद नहीं किया है. स्थानीय नेताओं से फीडबैक लेने के बाद प्रमिला पाण्डेय अथवा कमलावती सिंह में कोई एक नाम फाइनल कर दिया जाएगा.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here