सरकारी दफ्तर में शराब पीते धरे गये मैनेजर और कर्मचारी, विभागीय जांच के आदेश

0
101
Alchohol, Stationary Department, Deputy Manager, Manager

मोगा,  फरीदकोट से मोगा क्षेत्रीय कार्यालय में स्टेशनरी की जांच करने आया पंजाब स्कूल एजुकेशन बोर्ड (पीएसईबी) के मैनेजर व मोगा के डिप्टी मैनेजर सहित सात कर्मचारी दफ्तर में शराब पीते लोगों ने पकड़ लिया। हालांकि, डिप्टी मैनेजर व अन्य कर्मचारी मौके से भाग निकले।

इमारत की बेसमेंट में बने डिप्टी मैनेजर गुरचरण सिंह के दफ्तर में फरीदकोट दफ्तर का मैनेजर सुखविंदर सिंह साथियों के साथ शराब पी रहा था। शाम करीब चार बजे जब कमरे में शराब पी रहे मैनेजर सुखविंदर सिंह की नजर मीडिया के कैमरे पर पड़ी तो वह मीडिया कर्मियों को धक्का मारकर फरार हो गया। इस बीच, मौके का फायदा उठाकर डिप्टी मैनेजर गुरचरण सिंह अन्य छह कर्मचारियों के साथ वहां से फरार हो गया।

दफ्तर के बाहर लोगों ने मैनेजर सुखविंदर सिंह को पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने डिप्टी मैनेजर के दफ्तर से शराब की बोतल व गिलास बरामद किए हैं। दफ्तर के अंदर की वीडियो भी बनाई है। आरोपी मैनेजर का मेडिकल करवाया गया है। रिपोर्ट आते ही केस दर्ज किया जाएगा। वहीं, शिक्षा मंत्री ने भी मामले की विभागीय जांच के आदेश जारी कर दिए हैं।

फरीदकोट वापस जाना था इसलिए चार बजे बैठ गए शराब पीने

डिप्टी मैनेजर के दफ्तर में शराब पीते पकड़े गए मैनेजर सुखविंदर सिंह का कहना है कि वह मुक्तसर का रहने वाला है। वह फरीदकोट से मोगा के क्षेत्रीय कार्यालय में स्टेशनरी के रिकॉर्ड की जांच करने आया था। रिकॉर्ड जांच के बाद डिप्टी मैनेजर गुरचरण सिंह और स्टाफ के अन्य सदस्य दफ्तर में शराब पीने लगे। वापस फरीदकोट जाना था, इसलिए शाम चार बजे ही शराब पीने लग गए थे, ताकि समय पर लौट सकें।

शोर मचाने पर दफ्तर के कर्मियों ने दी जानकारी

शराब पीने के बाद आरोपी जब शोर मचा रहे थे तो दफ्तर के कुछ कर्मचारियों ने पुलिस को इसकी सूचना दे दी।

आरोपियों पर एक्साइज एक्ट का केस होगा दर्ज : एसएचओ

सिटी थाना प्रभारी गुरप्रीत सिंह का कहना है कि शिक्षा विभाग के मैनेजर सुखविंदर सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया है। जब उसे पकड़ा गया था, उसके मुंह से शराब की गंध आ रही थी। डिप्टी मैनेजर के दफ्तर से शराब की बोतल और गिलास बरामद किए गए हैं। मौके की वीडियो भी बनाई गई है। आरोपी का सिविल अस्पताल में मेडिकल करवाया जा रहा है। सरकारी कार्यालय में ड्यूटी के दौरान शराब पीना अपराध है। आरोपियों पर एक्साइज एक्ट के तहत केस दर्ज किया जाएगा।

ब्लड सैंपल लिए

सिविल अस्पताल की डॉक्टर ऋतु जैन का कहना है कि मैनेजर सुखविंदर सिंह के खून के सैंपल ले लिए हैं, लेकिन मेडिकल रिपोर्ट एक दिन बाद आएगी। जब सैंपल लिए गए थे तो उनसे शराब की गंध आ रही थी। रिपोर्ट आने पर पता चलेगी कि खून में अल्कोहल की मात्रा कितनी थी।

सीधे एजुकेशन बोर्ड के अधीन हैं स्टेशनरी कार्यालय : डीईओ

जिला शिक्षा अधिकारी गुरदर्शन सिंह का कहना है कि पंजाब स्कूल एजूकेशन बोर्ड का क्षेत्रीय कार्यालय उनके अधीन नहीं है। पीएसइबी के सभी जिलों में क्षेत्रीय कार्यालय हैं। इन्ही कार्यालयों से स्कूलों में स्टेशनरी, उत्तर पुस्तिकाएं, किताबें मुहैया करवाई जाती हैं। सभी क्षेत्रीय कार्यालयों में एक मैनेजर और डिप्टी मैनेजर के अलावा अन्य स्टाफ तैनात रहता है।

शिक्षा मंत्री ने दिए विभागीय जांच के आदेश

शिक्षा मंत्री अरुणा चौधरी का कहना है कि मामला उनके ध्यान में आया है। उन्होंने इस घटनाक्रम की विभागीय जांच के आदेश दे दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here