लव जेहाद पर बिक रही हैं मुस्लिम विरोधी किताबें , दंगे भड़का सकती हैं उसमें लिखी बातें

0
476

नई दिल्ली : दुनिया में प्यार से सम्बंधित एक शब्द काफी मशहूर है और वो है ”लव जेहाद” याद आया ,कई बार ये शब्द सुना होगा आपने कि एक प्रेमी जोड़े को मिली लव जेहाद की सजा या फिर लव जेहाद का नामोनिशान मिट जाना चाहिए अथवा इसको करने वाले को ही मिट जाना चाहिए। ये जो लव जेहाद हैं ना सिर्फ दो शब्दों के जोड़ से ही मिलकर बना है मगर इस छोटे से शब्द ने दो विपरीत धर्मों (हिन्दू और मुसलमान ) को साथ जोड़े रखा मगर गलत वजह और खतरनाक मकसद से ही।

लव जेहाद पर मुस्लिम विरोधी बंट रही हैं किताबें luv jehaad

अभी हाल ही में राजस्थान में ”लव जेहाद ” जैसे संगीन मुद्दे को उठाते हुए जयपुर में एक आध्यत्मिक सम्मेलन चलाया जा रहा है। जहां पर कई पूरे प्रदेश के निजी तथा सरकारी स्कूल-कॉलेज का जाना अनिवार्य हो गया है। ख़बरों के अनुसार इस सम्मेलन में खासकर किसी धर्म(मुस्लिम ) विरोधी किताबे बाटीं जा रही हैं।राजस्थान सरकार की निगरानी में आयोजित इस मेले में मुस्लिम विरोधी और लव जेहाद के लिए मुसलमानों को कसूरवार ठहराते हुए उनके खिलाफ कई ऐसी बातें इन किताबों में लिखी है जिनसे सांप्रदायिक दंगे तक भड़क सकते हैं।

करीना कपूर का दिया जा रहा है उदाहरण kareena kapor

किताबों ने साफ़ रूप से बताया गया है कि लव जेहाद के अंतर्गत किस तरह से मुसलमान लड़के हिन्दू लड़कियों को अपने प्यार के जाल में फंसाते हैं और उनका शोषण करने के बाद उन्हें धोखा देते हैं। अपनी इस बात को समझाने के लिए किताब में करीना कपूर का भी इस्तेमाल किया गया है जो पूरी तरह से अनुचित है।

स्कूल-कॉलेज को मेले में जाना है अनिवार्य luv jehaad

सूत्रों के अनुसार मुस्लिम विरोधी ये सम्मेलन विश्व हिन्दू परिषद और बजरंग दल के नेतृत्व में आयोजित किया गया है। इन संगठनों ने सभी स्कूल-कॉलेज को इस मेले में हाज़िरी लगाना अनिवार्य बताया है। मगर भगवान ही जाने जिस तरह से इस मेले में मुस्लिम विरोधी तथ्य खुलेआम सामने आ रहे हैं उसकी वजह से कहीं राजस्थान में भी गुजरात जैसा मंजर ना देखने को मिल जाए।प्रदेश सरकार ने भी सभी इस मेले में जाने के लिए सभी संस्थानों तथा स्कूल-कॉलेज को आदेश दे दिया है। इस बात की जानकारी देते हुए खुद असिस्टेंट डिस्ट्रिक्ट एजुकेशन ऑफिसर (ADEO) दीपक शुक्ला का कहना है कि विद्यार्थियों को मेले में जाने के निर्देश शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी ने दिए थे और प्रदेश की सरकारी और निजी स्कूलों को इसमें जाने के लिए कहा गया है।

लव जेहाद के लिए देते हैं पैसे luv jehaad

आपको बता दें कि इन किताबों में साफ़ तरह से लव जेहाद के लिए मुसलमान लड़कों को दोषी ठहराते हुए कई ऐसी बातें लिखी हैं जिनसे आपसी सौहार्द का माहौल काफी बिगड़ सकता है। इस किताब में तो यहाँ तक कहा गया है कि ”लव जेहाद के लिए मुसलमान लड़के हिन्दू लड़कियों के घर मेलजोल बढ़ाते हैं अगर बात नहीं बनती हैं तो वो पैसे तक देकर उन्हें राज़ी करवा लेते हैं। ”

मुस्लिम लड़के फंसाते हैं हिन्दू लड़कियों को प्रेम-जाल में luv jehaad

लव जेहाद में फंसाने के लिए मुस्लिम गुंडे किस तरह से जाल बिछाते हैं और हिन्दू लड़कियों को फंसाते हैं। उनको मोटर-बाइक में घुमाते हैं। उन्हें प्यार के ढोंग में इधर-उधर छूने का प्रयास करते हैं और हिन्दू लड़कियों का भरोसा जीतकर वो उनकी इज़्ज़त तक लूटने से बाज नहीं आते हैं।

अभिभावकों को मिली सलाह , लड़कियों पर रखें सख्त नजर luv jehaad

इन किताबों में हिन्दू अभिभावकों को ये सलाह दी गयी है कि किस तरह से वो अपनी बेटियों की हर हरकत पर निगरानी रखें ,उनका मोबाइल चेक करें और उन्हें किसी भी अनजान शख्स से मिलने पर खासकर मुस्लिम लड़कों से मिलने पर सख्त पाबंदी लगाएं।

कहीं राजस्थान में भी ना दिख जाए गुजरात दंगे जैसा मंजर luv jehaad

जानकारों का मानना है कि जिस तरह से जयपुर मेले में ऐसी किताबें खुलेआम बांटी जा रही हैं उसे अगर किसी भी धर्म( हिन्दू या मुसलमान ) का लड़का या लड़की पढ़ ले तो वो बिलकुल गलत विचारधारा के पक्षधर हो जाएंगे। जानकारों को ये भी डर सता रहा है कि जिस तरह से इन किताबों में खुलेआम मुस्लिम वर्ग की धज्जियां उड़ाई गयीं हैं उससे कहीं राजस्थान में गुजरात जैसा माहौल ना हो जाए।