शहीद कर्नल की पत्नी ने पेश की मिसाल, शिक्षिका की नौकरी छोड़ सेना में हुईं शामिल

0
687
SwatiMartyr, Swati Mahadik, Santosh Mhadik, Army

राजीव राय

साल 2015 में जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों से लड़ते हुए शहीद हुए भारतीय सेना के कर्नल संतोष महादिक की पत्नी स्वाति महादिक नौ सितंबर को सेना के आर्मी आर्डिनेंस कॉर्प्स (एओसी) से बतौर सैन्य अधिकारी जुड़ जाएंगी।


कर्नल संतोष को उनकी दिलेरी की वजह से मरणोपरांत शौर्य चक्र प्रदान किया गया था। 38 वर्षीया स्वाति महादिक ने अक्टूबर 2016 में चेन्नई स्थिति ऑफिसर्स ट्रेनिंग एकैडमी (ओटीए) में प्रशिक्षण के लिए प्रवेश लिया था और 11 महीने के कठोर प्रशिक्षण के बाद स्वाति अब खुद एक सैनिक बन जाएंगी।
सेना के अधिकारियों के अनुसार स्वाति ने अपने से बहुत कम उम्र की कैडेट के साथ ट्रेनिंग पूरी की। स्वाति ने फीजिकल और एकैडमिक दोनोें तरह की ट्रेनिंग में उच्च स्तरीय प्रदर्शन किया।
जब स्वाति के पति कर्नल संतोष देश के लिए शहीद हुए तब वो एक स्कूल टीचर थीं। लेकिन पति की शहादत के बाद दो बच्चों (12 साल की बेटी और 7 साल का बेटा) की माँ स्वाति ने सेना में शामिल होने की इच्छा जाहिर की और 38 साल की उम्र में कड़ी ट्रेनिंग के बाद अब वो 9 तारीख को बतौर लेफ्टिनेंट सेना में शामिल हो जाएंगी।