प्रद्युम्न मर्डर केस: बॉम्बे HC ने पिंटो फैमिली की अग्रिम ज़मानत याचिका ख़ारिज करने के साथ ही पासपोर्ट जमा करवाने का सुनाया फरमान

0
274
Pinto Family

मुंबई, बॉम्बे HC से रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिकों को बड़ा झटका मिला है। बॉम्बे हाई कोर्ट अग्रिम जमानत याचिका तो खारिज कर ही दी है साथ में हाई कोर्ट ने शुक्रवार की शाम तक पिंटो परिवार को अपने-अपने पासपोर्ट मुंबई पुलिस के पास जमा कराने का भी आदेश दिया है। प्रद्युम्न की हत्या के बाद गिरफ्तारी से बचने के लिए रेयान स्कूल के मालिकों ने हाई कोर्ट में अग्रिम जमानत के लिए अर्जी दाखिल की थी।

आपको बता दें कि आज यानी गुरुवार को बॉम्बे HC ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल के मालिकों की याचिका पर सुनवाई करते हुए अग्रिम जमानत देने से साफ इनकार कर दिया। साथ ही हाई कोर्ट ने पिंटो फैमिली को शुक्रवार की शाम 5 तक अपने पासपोर्ट मुंबई पुलिस के पास जमा कराने का फरमान भी सुनाया है।

शुक्रवार की रात 9 बजे तक रेयान स्कूल के सभी ट्रस्टियों के पासपोर्ट मुंबई पुलिस के आयुक्त के हवाले किए जाने हैं। जिसके लिए का समय कोर्ट ने निर्धारित किया है।

आपको बता दें कि गुड़गांव पुलिस की टीम मुंबई छानबीन के लिए पहुंच गई है इसलिए स्कूल मालिकों को भी गिरफ्तारी का डर सता रहा है। और ऐसा नहीं है कि सिर्फ गुड़गांव के रेयान की ही सुरक्षा व्यवस्था में खामियां हैं। रेयान के लगभग हर स्कूल में सुरक्षा व्यवस्था में भारी चूकें मिली हैं।

यही वजह है कि गिरफ्तारी की आशंका में रेयान ग्रुप के चेयरमैन, सीईओ और एमडी ने बांबे हाईकोर्ट में सोमवार को ही अर्जी लगा दी थी ताकि गिरफ्तारी की हालत में उन्हें अग्रिम ज़मानत मिल जाए। आज बॉम्बे हाई कोर्ट ने इस याचिका पर सुनवाई करके हुए याचिका खारिज कर दी है।

दूसरी तरफ प्रद्युम्न के पिता वरुण ठाकुर ने मामले की सीबीआई जांच करवाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि वे पुलिस की जांच से संतुष्ट नहीं हैं। अभी तक इस सवाल का जवाब नहीं मिला है कि बस कंडक्टर के पास चाकू कहां से आया और वह बाथरूम में चाकू साफ करने क्यों गया था। बुधवार को इस मामले की जांच कर रही SIT ने आरोपी बस ड्राइवर अशोक कुमार के साथ मौका-ए-वारदात पर पहुंचकर वहां पर क्राइम सीन रिक्रिएट किया। फोरेंसिक एक्सपर्ट की एक टीम ने विशेषज्ञों की मदद से बाथरूम से सबूत एकत्र करके फोरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है। हरियाणा पुलिस के दो बड़े अधिकारियों ने टॉप मैनेजमेंट का बयान ले लिया है।

SIT के दो सब-इंस्पेक्टरओं ने रेयान इंटरनेशनल स्कूल की निलंबित प्रिंसिपल से भी पूछताछ की है। आरोपी बस कंडक्टर अशोक कुमार का डीएनए टेस्ट करवाने के आदेश हैं। आरोपी अशोक कुमार के ब्लड और सीमन सैंपल जांच के लिए मधुबन लैब भेज दिए गए हैं। साथ ही अशोक और बच्चे के कपड़े भी जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेज दिए गए हैं।

पूछताछ के लिए माली हिरासत में

आज पुलिस ने पूछताछ के लिए स्कूल के माली हरपाल को हिरासत में ले लिया है। आपको बता दें कि प्रद्युम्न को लहूलुहान हालत में बाथरूम से निकलते हुए माली ने ही देखा था।

जानिए पूरा मामला

बीते शुक्रवार गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी क्लास में पढ़ने वाले 7 साल के मासूम प्रद्युम्न की गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। पुलिस पूछताछ में स्कूल बस के कंडक्टर अशोक ने अपना जुर्म कबूल कर लिया। अशोक ने पुलिस को बताया कि उसने प्रद्युम्न के साथ कुकर्म करने की कोशिश की थी. नाकाम होने पर पकड़े जाने के डर से उसने प्रद्युम्न की गला रेतकर हत्या कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here