जानिये कानपुर की नवनिर्वाचित मेयर ‘रिवाल्वर दादी’ प्रमिला पाण्डेय के बारे में कुछ अनसुनी बातें

0
161
pramila_pandey

कानपुर, यूपी में बीजेपी का गढ़ माने जाने वाले कानपुर शहर में मेयर पद के लिए भाजपा उम्मीदवार प्रमिला पांडेय ने जबरदस्त जीत हासिल की है। उन्होंने अपनी प्रतिद्वंदी कांग्रेस प्रत्याशी वंदना मिश्रा को करीब सवा लाख वोटों से हरा दिया है।

BJP प्रत्याशी प्रमिला पाण्डेय को 3,96,725 वोट मिले जबकि उनकी निकटतम प्रतिद्वंदी कांग्रेस की वंदना मिश्रा को 2,91,591 वोट ही मिल पाए.

pramila_pandey

कानपुर की नवनिर्वाचित मेयर प्रमिला पाण्डेय ‘रिवाल्वर दादी’ और ‘रिवाल्वर चाची’ के नाम से मशहूर हैं. आपको अमूमन ये दुनाली के साथ दिख जायेंगी. प्रमिला पांडेय को  बेजुबानों से गहरा लगाव है। इनके पास एक दर्जन से ज्यादा गायें हैं . साथ ही घर में कुत्ता, बिल्ली और कई पक्षु-पक्षी भी मौजूद हैं।

भाजपा कार्यकर्ता इन्हें दीदी के नाम से पुकारते हैं। बीजेपी कार्यकर्ताओं की मानें तो प्रदेश के सीएम योगी में जब भी कानपुर आते हैं तो इन्हें जरूर बुलाते हैं और प्रमिला दीदी प्रणाम जरूर कहते हैं।  प्रमिला पांडेय की गिनती सीएम के करीबी नेताओं में होती है। विधानसभा चुनाव के वक्त योगी आदित्यनाथ पनकी में जनसभा कर रहे थे, तब इनके बगल में प्रमिला को जगह मिली थी।

pramila-pandey

रिवाल्वर दादी को साँपों से भी डर नहीं लगता है। दीदी सांप को हाथ से पकड़ कर दूध पिलाती हैं और विषधारी किसी के घर पर दिख जाए तो उसे मारने नहीं देती, बल्कि पकड़कर खुद जंगल में छोड़ आती हैं।

प्रमिला हमेशा अपने साथ लाइसेंसी रिवॉल्वर लेकर चलती हैं। एक बार जब रिवॉल्वर और बन्दूक के साथ सोशल मिडिया पर उनकी फोटो वायरल हुई तभी से लोग उन्हें रिवॉल्वर दादी और रिवाल्वर चाची के नाम से पुकारने लगे। प्रमिला पांडेय की गिनती भाजपा के तेज-तर्रार नेताओं में होती है। प्रमिला अपने कमर पर पिस्टल लेकर चलती हैं और अगर सरकारी बाबू किसी को परेशान करता है तो उस पर रिवाल्वर तान देती हैं।

pramila-pandey

नकद समेत प्रमिला की चल संपत्ति 1.32 करोड़ है, जबकि पति की मिलाकार कुल अचल संपत्ति 5.5 करोड़ है।

प्रमिला पाण्डेय मूल रूप से जौनपुर की रहने वाली है। प्रमिला पांडेय ने राजनीति की शुरूआत 1987 से की थी। प्रमिला पांडेय दो साल तक संघ से जुड़ी रहीं और फिर 1989 में इन्होंने भाजपा ज्वाइन की। इनके पति कानपुर रजिस्ट्रार विभाग में बाबू के पद पर तैनात थे। प्रमिला पांडेय सिविल लाइन वार्ड 52 से दो बार पार्षद के लिए चुनी जा चुकी है। इसके बाद वह महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष भी रह चुकी हैं।

pramila-pandey

राममंदिर आंदोलन के दौरान प्रमिला पाडेय ने भाग लिया था और उमा भारती के बुलावे पर अपने सैकड़ो समर्थकों के साथ अयोध्या पहुंची थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here