फ्रेंडशिप डे पर छापेमारी, रेव पार्टी में अय्याशी करते मिले बड़े घरों के बिगड़ैल बच्चे

0
192

कानपुर । युवक युवतियों को गलत रास्ते पर जाने से रोकने के लिये जिला प्रशासन ने रविवार को एक बड़ा एक्शन लिया गया। अपर जिला मजिस्टेट की अगुवाई में पाॅच सरकारी महकमों ने संयुक्त एक ऐसे ठिकाने पर छापामार कार्यवाही की जहाॅ बड़े घरों के बिगड़ैल बच्चों से पैसे ऐंठकर उन्हें अय्याशी के साधन मुहैया कराये जाते थे। रेस्टोरेण्ट की आड़ में ‘‘रेव पार्टी’’ का यह अड्डा कानपुर शहर में बेहद पाॅश इलाके सिविल लाईन्स में चलाया जा रहा था। दि एच0क्यू0, यह नाम किसी महकमे के मुख्यालय का नहीं है बल्कि ये एक ऐसा हेडक्वार्टर है जहाॅ पैसे वालों के बच्चों को गलत रास्ते पर पहला कदम चलना सिखाया जाता है। हेडक्वार्टर नामक इस रेस्टोरेण्ट पर आज जब पाॅच सरकारी विभागों ने एक साथ छापा मारा तो वहाॅ शराब और शवाब का वो दौर चलता मिला कि सभी दंग रहे गये। यहाॅ लगभग सत्तर से अधिक युवा जोड़े मिले जिन्हें फ्रेण्डशिप डे मनाने के लिये यहाॅ लाया गया था लेकिन दोस्ती की मर्यादा तर तार हो रही थी।

नगर के वीआईपी रोड पर यह रेस्टोरेण्ट कुछ दिन पहले ही खोला गया था और जल्दी ही इसका क्रेज युवाओं में जबरदस्त बन गया था। आज रेस्टोरेण्ट संचालक ने एक दिन का अस्थायी बार लाईसेन्स लिया था लेकिन प्रशासन को गुमराह कर वहाॅ ‘‘रेव पार्टी’’ आयोजित की गयी। सूरज चढ़ने के साथ यहाॅ जाम के दौर चलने लगे। राज्य सरकार द्वारा पूर्णतया प्रतिबन्धित हुक्का भी मुहैया कराया गया और नशे के वे सभी साधन जिनकी इजाजत कानून नहीं देता है। सबसे चैंकाने वाली बात यह रही कि जिला प्रशासन ने इस रेव पार्टी को लेकर इलाके के ग्वालटोली थाने की भूमिका संदिग्ध पायी। यही वजह रही कि जब दि हेड क्वार्टर पर छापा मारा गया तो इलाकाई पुलिस को इसकी भनक भी नहीं लगने दी गयी।

हालाॅकि तमाम परिवारों की इज्जत बचाने के लिये लड़कियों को घर जाने की इजाजत दे दी गयी लेकिन उनके पुरूष मित्रों के नाम पुलिस ने अपने रिकार्ड पर दर्ज किये। अब रेस्टोरेण्ट संचालक पर जिला प्रशासन, पुलिस, आबकारी, तम्बाकू निषेध और खाद्य सुरक्षा विभाग अलग अलग अधिनियमों के तहत कार्यवाही करेगा।