चौथे दिन भी स्वाति मालीवाल का अनशन जारी, PM मोदी और दिल्ली पुलिस पर लगाये आरोप

0
13
Arvind Kejriwal, Swati Maliwal, Fast, Pm Modi

नई दिल्ली: महिलाओं और बच्चियों के साथ बढ़ती यौन हिंसा के खिलाफ दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का अनशन चौथे दिन भी जारी है। आज सुबह मेडिकल टीम स्वाति का चेकअप करने राजघाट पहुंची लेकिन मालीवाल ने इसके लिए इंकार कर दिया। स्वाति ने आरोप लगते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस पर पीएमओ के इशारे पर उनका अनशन जबरन तुड़वाने पर तुली हुई है। स्वाति ने बताया कि पुलिसवालों ने उन्हें कहा कि पीएमओ से ऑर्डर आए हैं अनशन तुड़वाने के।

स्वाति ने कहा कि वह बिल्कुल ठीक है, लगता है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी महिलाओं को कमजोर समझते हैं। हालांकि स्वाती ने दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से एक मेडिकल टीम के गठन की अपील की है, जो उनका चेकअप करे। साथ ही उन्होंने केजरीवाल से मांग की कि उन्हें सुरक्षा दिलवाई जाए। इस दौरान स्वाति ने पीएम मोदी के नाम ओपन लेटर लिख सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। मालीवाल ने खत में लिखा कि रातों रात नोटबंदी की जा सकती है, तो फिर रातों-रात महिलाओं की सुरक्षा के लिए प्रधानमंत्री जी कड़े कदम क्यों नही उठाते। जितनी ऊर्जा अपनी और पुलिस की मेरा अनशन तुड़वाने में लगा रहे हैं, उससे आधी ऊर्जा अगर महिलाओं के हित में लगे तो देश सुधरे।

केजरीवाल भी पहुंचे अनशन में
रविवार शाम करीब 4 बजे केजरीवाल भी अपनी पत्नी सुनीता केजरीवाल के साथ समता स्थल पहुंचे। यहां उन्होंने स्वाति के अभियान ‘रेप रोको’ का समर्थन किया। सीएम ने कहा कि बलात्कार रोकने का मुद्दा देश का है। मैं एक बाप हूं। अपनी बेटी की सुरक्षा के लिए आया हूं। दिल्ली की महिलाओं की सुरक्षा के लिए आया हूं। ऐसा सिस्टम बनना चाहिए कि बलात्कार करने से लोग डरें। खाना-पीना छोड़कर स्वाति आंदोलन कर रही हैं। देश में रोज छोटी बच्चियों के संग दुराचार हो रहा है। उत्तर प्रदेश में एक महिला के बलात्कार मामले में महीनों तक मुकदमा ही दर्ज नहीं हो पाया। एफआईआर दर्ज और दोषियों को गिरफ्तार करने के बजाए पीड़िता के पिता को ही गिरफ्तार कर लिया, जिसकी मौत पुलिस हिरासत में हो गई। मामले में आरोपी कुलदीप सेंगर भाजपा का विधायक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि समता स्थल पर आए लोग स्वाति पर अहसान करने नहीं आए। यह देश का मुद्दा है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here