स्वच्छ हवा में सांस लेने के लिए दिल्लीवासियों को लगेगा एक साल

0
179
Delhi,Clean Air,Pollution

नई दिल्ली: दिल्ली वासी करीब एक साल के बाद इस हफ्ते स्वच्छ वायु में सांस ले सकेंगे। मानसूनी बारिश और हवा ने राष्ट्रीय राजधानी की वायु की गुणवत्ता को संतोषजनक स्तर पर पहुंचाया है। अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण-पश्चिमी मानसून के चलते सोमवार को हल्की बारिश हुई। कल भारी बारिश दर्ज की गई । इसके बाद लोगों को ना केवल गर्मी से बल्कि वायु प्रदुषण से भी राहत मिली। इस महीने वायु प्रदुषण बढ़कर अप्रत्याशित स्तर पर पहुंच गया था।

केंद्रीय प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड के आंकडों के अनुसार राजधानी में वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 83 पर पहुंच गया जो ‘ संतोषजनक ’ है। यह बुधवार को मानसून पूर्व बारिश के बाद इस स्तर पर पहुंचा।

  • 0-50 के बीच होने पर ‘ बेहतर ’,
  • 51-100 के बीच ‘ संतोषजनक ’,
  • 101-200 के बीच ‘ औसत ’,
  • 201-300 के बीच ‘ खराब ’,
  • 300-400 के बीच ‘ बहुत खराब ’
  • 401-500 के बीच ‘गंभीर’ माना जाता है।

केंद्रीय प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी ने बताया कि दिल्ली वासियों ने आखिरी दफा इस तरह की स्वच्छ वायु में पिछले साल अगस्त में सांस ली थी। केंद्र सरकार द्वारा संचालित ‘ सफर ’ के वैज्ञानिक गुफरान बेग ने बताया कि आज और आने वाले कुछ दिनों में वायु की गुणवत्ता में सुधार आयेगा। मानसूनी हवाओं ने धूल भरी हवा को स्वच्छ किया है और इसके चलते ही वायु की गुणवत्ता संतोषजनक स्तर पर पहुंच गई है।