देशभर के साथ ही सोमवार को उत्तराखंड में भी 15-18 आयुवर्ग का टीकाकरण अभियान शुरू हो गया है। राजधानी देहरादून में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अभियान का विधिवत शुभारंभ किया।

दून के सनातन धर्म इंटर कॉलेज बन्नू स्कूल रेसकोर्स में 15 साल की आरणा शर्मा को प्रदेश में पहला टीका लगा। इस दौरान मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि 15-18 वर्ष के किशोरों को बधाई कि उन्हें सुरक्षा कवच मिलने जा रहा है।

सोमवार से शुरू हुई इस अभियान में किशोर और किशोरियों में उत्साह देखने को मिला। टीकाकरण केंद्रों के बाहर सुबह से ही लंबी लाइन लगी रही। वहीं राज्य के सभी जिलों में टीकाकरण जारी है। बच्चों ने कहा कि पेरेंट्स स्कूल भेजने में डरते थे। अब सुरक्षा कवच मिल गया है। इससे कोरोना से बचाव होगा। पेरेंट्स परेशान नहीं होंगे।

देहरादून के आयोजित कार्यक्रम में राज्यसभा सदस्य नरेश बंसल ने कहा कि 15-18 आयुवर्ग का टीकाकरण समय से पूरा करेंगे। यदि किसी को द्वितीय खुराक लगनी है तो उसे प्रेरित करें और एहतियात रखें। कहा कि खुद के साथ ही औरों को भी सुरक्षित रखें। वहीं मेयन सुनील उनियाल गामा ने कोविड टीकाकरण के लिए प्रधानमंत्री का आभार जताया। कहा कि सावधानी और सतर्कता से कोरोना की तीसरी लहर से बचा जा सकता है।

धर्मपुर विधायक विनोद चमोली ने कहा कि दुनिया का सबसे बड़ा अभियान चल रहा है। उत्तराखंड ने समय पूर्व प्रथम खुराक का लक्ष्य पूरा किया है। हम 15-18 आयुवर्ग का टीकाकरण भी समय पूर्व पूरा करेंगे।

स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने कहा कि प्रदेश में आज 15-18 आयुवर्ग का टीकाकरण शुरू हुआ है। प्रदेश में 6.28 लाख का टीकाकरण होना है। इसके अलावा करीब पचास हजार बच्चे बाहर से आकर यहां पढ़ रहे हैं। हम यह टीकाकरण एक सप्ताह में पूरा करेंगे। कहा आगामी दस जनवरी से 60 प्लस व फ्रंटलाइन वर्कर को बूस्टर डोज दी जाएगी। राज्य में 18 प्लस आयुवर्ग में 85 प्रतिशत को दूसरी खुराक लग चुकी है। जल्द ही शत-प्रतिशत टीकाकरण पूरा होगा।